Header ads

» » » जौनपुर : नगर पालिका प्रशासन नहीं चेता तो कभी भी हो सकता है शाहगंज में बड़ा हादसा

जौनपुर : नगर पालिका प्रशासन नहीं चेता तो कभी भी हो सकता है शाहगंज में बड़ा हादसा

रविवार की देर शाम जो कूड़े के ढेर में लगी आग उसे बुझाने में पूरी रात अग्निशमन दल व नगरपालिका कर्मी रहे हलकान

आरपीएफ के चेतावनी के बावजूद नपा कर्मी अपनी करतूत से नहीं आ रहे बाज, पुल पर कूड़ा गिराकर कूड़े के ढेर में लगा दे रहे हैं आग

कूड़े के ढेर में लगी आग से उठता जहरीला धूंआ
शाहगंज। 
रवि शंकर वर्मा
तहलका24x7
                      नगर का दादर बाई पास पुल जो सुल्तानपुर जनपद व आजमगढ़ जनपद को जोड़ता है उसके नीचे से उत्तर रेलवे व पूर्वोत्तर रेलवे की रेलगाड़ियां संचालित होती है। ऐसे अति महत्वपूर्ण दादर बाईपास पुल पर नगर पालिका परिषद के सफाई कर्मचारियों द्वारा लगातार कूड़े को गिराने का कार्य किया जा रहा है और कूड़े के ढेर में आग लगा दी जा रही है। रविवार की देर सांय नगर पालिका कर्मी की करतूत से अग्निशमन दल व खुद नगर पालिका कर्मी पूरी रात हलकान रहे। रविवार की देर शाम जो आग कूड़े के ढेर में लगाई गई थी उसे अग्निशमन दल व नगरपालिका कर्मी अगले दिन सुबह तक बुझाते रहे। गौर करने वाली बात यह है कि उसी पुल के नीचे से कोयला व पेट्रोलियम लदी मालगाड़ी गुजरती है जो कभी भी बड़े हादसे का शिकार बन सकती है। ऐसे में अब रेल प्रशासन गंभीर नहीं हुआ तो किसी बड़े हादसे से भी इंकार नहीं किया जा सकता है। 

नपा का वाहन दादर पुल पर कूड़ा गिराते हुए

# आस पड़ोस के लोग खौफ में जीने को मजबूर 


नपा के अजीबो गरीब इस करतूत से अगल बगल के मोहल्लेवासी अब खौफ में जीने को मजबूर है क्योंकि आग लगने से वातावरण पूरी तरह प्रदूषित हो जा रहा है लोगों को खांसी, छींके व स्किन डिजीज जैसी  बीमारियां होने लगी है। इस संबंध में कई बार स्थानीय लोगों द्वारा नगर पालिका के अधिकारियों को सूचित किया गया कि नगर पालिका कर्मियों द्वारा कूड़ा गिराया जा रहा है जिसे रोका जाए और कूड़ा निस्तारण का प्रबंध किया जाए। लेकिन लगभग पाँच वर्षों से लगातार दादर बाई पास पर कूड़ा गिराया जा रहा है

#  रेलवे सुरक्षा के बाबत आरपीएफ द्वारा कई बार लिखित रूप से नपा को दी गयी चेतावनी, जिसका नपा पर कोई असर नहीं 


 दादर बाईपास रोड रेलवे की सीमा में आती है लिहाजा सुरक्षा की दृष्टि से स्थानीय रेलवे स्टेशन के रेलवे सुरक्षा बल के थाना प्रभारी संदीप कुमार यादव ने नगर पालिका के अधिकारियों को पूर्व में ही पत्र भेज आगाह किया था कि कर्मचारियों द्वारा उक्त बाई पास पर कूड़ा न फेंका जाए न ही उसमें आग लगाया जाए क्योंकि पुल के नीचे से डीजल लदा टैंक, डीजल इंजन, कोयला लदी मालगाड़ी सहित तमाम महत्वपूर्ण रेलगाड़ियां गुजरती है ऐसे में जरा सा भी तेज हवा के बहने से बड़ा हादसा हो सकता है। इस बात की जानकारी पहले ही आरपीएफ इंस्पेक्टर द्वारा दिया जा चुका है लेकिन नपा कर्मचारियों द्वारा बार बार कूड़े को रेलवे के ही जमीन पर गिराया जा रहा है। नगर पालिका प्रशासन स्थानीय नागरिकों के स्वास्थ्य व रेलवे सुरक्षा के प्रति बिल्कुल संजीदा नहीं है। आरपीएफ प्रभारी संदीप कुमार यादव के मुताबिक एक बार पुनः नगर पालिका प्रशासन को लिखित सूचित किया जाएगा। यदि नपा प्रशासन समस्या के समाधान के लिए सक्रिय नहीं हुआ तो कठोर विधिक कार्रवाई करने को बाध्य होगें। 

#  कई बार कूड़े के ढेर में लग चुका है आग 


 हद तो तब हो गई जब रविवार की देर शाम एक बार फिर नपा कर्मचारी द्वारा कूड़े के ढ़ेर में आग लगा दिया गया वही आसपास के लोगों ने इस संबंध में बताया कि नपा कर्मचारी द्वारा जबरदस्ती आग लगाया गया है लोगों द्वारा मना किया गया लेकिन वह किसी की नहीं सुनी और आग लगा दिया। आग इतनी भयावह हुई कि दो अग्निशमन दल की गाड़ियां व नगर पालिका के कर्मी पूरी रात हलकान रहे। 

#  ज्वलंत मुद्दे पर अधिकारी व जनप्रतिनिधि की आंखें बंद

 
 दादर बाईपास पर कूड़ा गिराए जाने से संबंधित जनसमस्याओं को कई बार नगर वासियों द्वारा उप जिलाधिकारी, जिला अधिकारी एवं तहसील दिवस में भी कई प्रार्थना पत्र दे गुहार लगाई कि नगर के दादर बाईपास पर कूड़ा न गिराया जाए जिस पर नगर वासियों को हर जगह सिर्फ आश्वासन ही मिला ऐसे में इतने ज्वलंत मुद्दे पर स्थानीय अधिकारी व जनप्रतिनिधि अपनी आंखें बंद कर बैठे हैं जिससे अब लोगों का प्रशासन के ढुलमुल रवैये के प्रति आक्रोश व्याप्त है।

About तहलका 24x7

रवि शंकर.
«
Next
Newer Post
»
Previous
Older Post

No comments:

Leave a Reply