Header ads

» » » जौनपुर : शाहगंज में मंडरा रहा इन्सेफेलाइटिस (संचारी रोग) का खतरा, नपा अपनी लापरवाही की खुमारी में

जौनपुर : शाहगंज में मंडरा रहा इन्सेफेलाइटिस (संचारी रोग) का खतरा, नपा अपनी लापरवाही की खुमारी में


नपा के चलते लगा गंदगी का अम्बार, नगर में मच्छर व मक्खियां से बढ़ा संक्रामक रोग का खतरा


सिर्फ कागजी कोरम तक ही सीमित है संचारी रोग नियंत्रण पखवाड़ा, सरकार की लुटिया डुबोने में नपा नहीं छोड़ रही है कोई कोर कसर


रवि शंकर वर्मा व फूल कुमार प्रजापति की विशेष रिपोर्ट

सर्राफा गली में तैरता नाली का पानी 

शाहगंज।
स्पेशल डेस्क
तहलका 24x7
                       जनपद की सबसे सशक्त तहसील शाहगंज, जहां पिछले दो सालों से नगर वासी भीषण गंदगी का दंश झेल रहे हैं। लोगों को अब इन्सेफेलाइटिस का खतरा मंडरा रहा है क्योंकि यहां नगर पालिका परिषद के द्वारा भारी अनियमितता व गैर जिम्मेदाराना रवैये के चलते पूरे नगर में गंदगी की भरमार लग गयी है। बरसात के दिनों में चारों तरफ दुर्गंध युक्त कूड़े का अंबार लग गया है। नालियों में बड़े बड़े कीड़े व मच्छर पल रहे हैं। कूड़ों व नालियों की सड़ांध से पैदल चलना भी दूर्भर हो गया है। पिछले दो वर्षों से मुख्यमार्ग की स्थित चौपट होने के चलते नगर में चारों तरफ गंदे पानी का जमावड़ा है। जो संक्रामक बीमारियों को दावत दे रहा है। ऐसे में नगर पालिका परिषद के ईओ, चेयरमैन व सभासदों की चुप्पी लोगों के गले से नीचे नही उतर रही है। सबसे खास बात यह है कि पालिका के लापरवाह अधिकारी मुख्यमंत्री जनसुनवाई पोर्टल पर की गई शिकायत को भी ठेंगा दिखाते हैं।



#  क्या है इन्सेफेलाइटिस (संचारी रोग)


इन्सेफेलाइटिस (संचारी रोग) सिर्फ गंदगियों के कारण फैलता है। इसी से रोगों का फैलाव होता है। जिसके चलते जानलेवा बीमारी के वायरस लोगों में सक्रिय हो जाते हैं। जो जन मानस के लिए जान का खतरा बनता है। यह संक्रामक रोग केवल गंदगी से ही होता है। संचारी रोग के अंतर्गत चेचक, मस्तिष्क ज्वर, हैजा, मलेरिया, खसरा, चर्मरोग जैसे तमाम जानलेवा बीमारियां फैलती हैं।   



#  पूरे प्रदेश में चल रहा है संचारी रोग नियंत्रण पखवाड़ा


पूरे प्रदेश में संचारी रोग से होने वाले बीमारियों के खात्मे के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने गोरखपुर व बस्ती में संचारी रोग नियंत्रण पखवाड़े के लिए हरी झंडी दिखाकर रैली को रवाना किया था। क्योंकि सबसे पहले इन्सेफेलाइटिस का खतरा गोरखपुर, बस्ती व देवरिया जिले में ही मंडराया था। स्वास्थ्य विभाग व अन्य विभागों के संयुक्त सहयोग से पूरे प्रदेश में संचारी रोग नियंत्रण पखवाड़ा मनाया जा रहा है। हर जगह सफाई व जागरूकता पर विशेष जोर दिया जा रहा है। लेकिन नगर पालिका प्रशासन सरकार की लुटिया डुबोने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ रहा है।

प्रदेश के समस्त जिले में गंदगी के खात्मे के लिए जिला पंचायत राज विभाग ने कमर कस ली है। शासन के निर्देश पर  ''संचारी रोग नियंत्रण पखवाड़ा'' की शुरूआत हो चुकी है। लेकिन शाहगंज में गंदगी जस की तस है। इन दिनों बरसात होने पर चहुंओर दुर्गंध से लोगों का जीना मुहाल है।


नाली से सटाकर नपा ने बिछाई पाइप लाइन 

#  शासन का आदेश पखवाड़े के तहत विशेष सफाई अभियान चलेगा जो कस्बे में सिर्फ कागजों पर ही चल रहा..


संचारी रोगों  के फैलने से संबंधित रोक थाम के अभियान के तहत साफ-सफाई, जलभराव रोकने और शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने पर विशेष जोर रहेगा। वहीं गावों में ग्राम प्रधान अपने गांव में अभियान के नोडल अधिकारी होंगे। प्रभातफेरी निकालकर संचारी रोग नियंत्रण पखवाड़े का उद्घाटन करेंगे। ग्राम स्तर पर साफ-सफाई, हाथ धोना, शौचालय की सफाई और घर से जल निकासी हेतु जन-जागरण के लिए प्रचार-प्रसार करेंगे।

ग्राम स्वास्थ्य स्वच्छता और पोषण समिति के माध्यम से दिमागी बुखार की रोकथाम के लिए क्या करें, और क्या न करें का सघन प्रचार होगा। गांवों में शुद्ध पेयजल की व्यवस्था की जाएगी। उथले हैंडपंपों को चिह्नित कर पानी का इस्तेमाल न करने के लिए जागरूक करेंगे। इनके स्थान पर नए हैंडपंप लगाए जाएंगे। पेयजल स्रोतों, संसाधनों से शौचालयों के सीवर को दूर बनाने के उपाय बताएंगे। तालाब और नालियों की नियमित सफाई, फॉगिंग की व्यवस्था, संक्रमण और प्रदूषण की उत्तरदायी खुली नालियों को ढकना, गांवों में व शहरों में कूड़ेदान की व्यवस्था कराना। इतने आदेश होने के बावजूद पालिका प्रशासन द्वारा नगर में न तो फागिंग की व्यवस्था की गई और न ही मलेरिया विभाग द्वारा कोई जांच पड़ताल की गई है। इन दिनों नगर पालिका परिषद द्वारा पाइप लाइन को अंडर ग्राउंड बिछाने का कार्य किया जा रहा है। यहां भी नपा द्वारा संचारी रोग नियंत्रण अभियान को धता बताते हुए ठीक नालियों से सटा कर पाइपों को बिछाया जा रहा है जबकि ऐसा करने का मतलब रोगों को दावत देना है। 



# नगर के इन मोहल्लों में फैल सकता है संचारी रोग


नगर पालिका प्रशासन के गैर जिम्मेदाराना रवैये के चलते नगर के कुछ मोहल्लों में संचारी रोगों का खतरा मंडरा रहा है। जो गंदगी से पूणतः प्रभावित हैं। जिसमें भादी खास, भटियारी सराय, शाहपंजा, घासमंडी, पुरानी बाजार (जेठू लाइन मैन गली) हुब्बीगंज तिराहा सहित कई मोहल्ले भीषण गंदगी के चपेट में हैं। जहां इन्सेफेलाइटिस जैसी गम्भीर बीमारी को दावत दिया जा रहा है।

About तहलका 24x7

रवि शंकर.
«
Next
Newer Post
»
Previous
Older Post

No comments:

Leave a Reply